Thursday, March 31, 2011

मूर्खता हमारा जन्मसिद्ध अधिकार है। फर्स्ट अप्रैल की शुभकामनायें| ....


मूर्खता हमारा जन्मसिद्ध अधिकार है। फर्स्ट अप्रैल की शुभकामनायें|

वो मूरख है उसको हमने मूरख बनाया यार उसने मूरख बना दिया जब से होश संभाला है तबसे इन सबसे वास्ता पड़ता रहता है मूरख बन कर भी हसी आती है और मूरख बना कर भी हसी आती है तभी कहा जाता है की -------
 मूर्खता हमारा जन्मसिद्ध अधिकार है। कभी कभी मूरख बनाने में मज़ा आता है .

ज्ञानी लोग ज्ञान की बाते करते है और मूरख लोग मुरखता की बाते करते है भाई हम तो मूरख आज के दिन ठीक है .मूर्खता हमारा जन्मसिद्ध अधिकार है। फर्स्ट अप्रैल की शुभकामनायें|

जय बाबा बनारस.......



9 comments:

  1. आपको भी शुभकामनायें| मेरे ब्लॉग पर जरुर आना ! हवे अ गुड डे !
    Music Bol
    Lyrics Mantra
    Shayari Dil Se
    Latest News About Tech

    ReplyDelete
  2. भाई इस अधिकार पर हमारा भी अधिकार है।

    ReplyDelete
  3. आपकी उम्दा प्रस्तुति कल शनिवार (2.04.2011) को "चर्चा मंच" पर प्रस्तुत की गयी है।आप आये और आकर अपने विचारों से हमे अवगत कराये......"ॐ साई राम" at http://charchamanch.blogspot.com/
    चर्चाकार:Er. सत्यम शिवम (शनिवासरीय चर्चा)

    ReplyDelete
  4. एहसास दिलाने क लिए शुक्रिया

    ReplyDelete
  5. मूर्खता हमारा जन्मसिद्ध अधिकार है।....

    मैं आपके इस विचार से सहमत हूं...

    ReplyDelete
  6. बहुत मजेदार|
    नवसंवत्सर की हार्दिक शुभकामनाएँ| धन्यवाद|

    ReplyDelete
  7. इस मामले में मैं आपके साथ हूँ जब चाहो बुला लेना ! शुभकामनायें यार !

    ReplyDelete