Wednesday, October 13, 2010

एक पेग अंदर राम लाल सिकंदर ----दारू की बोतल

बोतल में बंद एक जादूगर के जादू को सलाम
एक बोतल का जादू
एक पानी की बोतल -------आप को जिन्दा रखती है
तेल की बोतल --------आप के दिमाग को ताजा रखती है
मिटटी के तेल की बोतल---------आप को हवालात की हवा खिला सकती है
(अगर आप दहेज़ में विस्वास रखेते है )
दवाई की बोतल-------आप का विस्वास वापस ला देती है
और इनसब से बढ़ कर और एक बोतल है -----दारू की बोतल
जब इसका ढक्कन खुलता है तब एक आम आदमी भी एक राजा की तरह हो जाता है
एक पेग अंदर राम लाल सिकंदर

9 comments:

  1. अरे वाह मिसर जी --- खूब बढ़िया

    ReplyDelete
  2. एक पेग अंदर राम लाल सिकंदर

    बढिया साहेब......... एक नया फलसफा मिला.

    ReplyDelete
  3. aap sabhi logo ka agamn ke liya sadhanviyad

    ReplyDelete
  4. एक पेग अंदर
    राम लाल सिकंदर
    बाकी सब बंदर!

    ReplyDelete
  5. daaru ki botal vaise hoti betal hai, bin pende ki ...

    likhate rahiye ....

    ReplyDelete